New

अभी अभी

बाबा साहेब डॉ० भीमराव अम्बेडकर की 123 वीं वर्षगाँठ पर

DrAmbedkarJayanti3

दलित वर्ग की राजनैतिक चेतना और परिपक्वता से मुख्यधारा के समाज को सीखने की जरुरत है ! 14 अप्रैल का दिन इस तथ्य की गहराई को समझने के लिये सबसे प्रासंगिक दिन है। यह शीर्षक थोड़ा सा अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकता है लेकिन यदि पूर्वाग्रहों से मुक्त होकर इस पक्ष पर थोड़ा सा गंभीर चिन्तन करें तो निश्चितरूप से वास्तविक जनतंत्र ... Read More »

नरसंहार के 17 साल बाद कितने बदले हैं दलितों के हालात

Patna-HC-acquit29046

सुवा मेहता की अब काफी उम्र हो चली है लेकिन लगभग 17 साल पहले वो अपने गांव में हुए उस नरसंहार को बिल्कुल नहीं भूले हैं। जिसमें 58 दलितों का रात के अंधेरे में कत्ल कर दिया गया था। वो बिहार के अरवल जिले के लक्ष्मणपुर बाथे गांव में रहते हैं। वो कहते हैं, “मार काट के बाद पूरे गांव ... Read More »

बाबा साहेब की कर्मभूमि में दलित राजनीति खंड-खंड

diksha_bhumi_50th_large-776528

नागपुर का दीक्षा भूमि स्मारक दलितों के लिए किसी तीर्थस्थल से कम नही है। यहीं डॉ अंबेडकर ने वर्ण व्यवस्था पर आधारित हिंदू धर्म को छोड़ कर बौद्ध धर्म का रास्ता अपनाया था। यहीं मेरी मुलाक़ात एक बुज़ुर्ग मनोहर बिट्वा पाटिल से हुई जो यह बताते हुए भावुक हो जाते हैं कि कैसे इस जगह पर लोगों के हुजूम के ... Read More »

कॉंग्रेसी सोच और दलित

big1

मा.कांशीरामजी जैसे अपने उद्देश को पूरा करने के लिए अगर कोई बहुत ज्यादा समर्पित हो तो क्या हो सकता है यह कल राहुल गांधी के बहनजी पर दिए गए बयान से साबित हो गया। मा.कांशीरामजी के समर्पित आचरण से किए गए कार्य के कारण उत्तर प्रदेश से काँग्रेस का सुपड़ा साफ हो गया और तभी से काँग्रेस कभी भी केंद्र ... Read More »

दंगायुक्त डेढ़ साल बनाम दंगामुक्त पांच साल

sp-vrs-bsp

अखिलेशराज के डेढ़ साल और बहन मायावती जी के पांच साल के क्या कुछ हुआ हम आपको बताते है पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद एक ओर जहां अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने के लिए उनकी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता तैयार नहीं थे, उत्तर प्रदेश में यह कहा जाने लगा है कि राज्य में साढ़े पांच मुख्यमंत्री हैं, और आधे मुख्यमंत्री ... Read More »

  • पूना पैक्ट की कहानी

    गोलमेज सम्मेलन मे, बाबा की मेहनत रंग लाई । अपने बुध्दिबल से बाबा ने . कम्युनल एवार्ड की उपलब्धी पाई ॥ अँग्रेजो ने जब तुमको दे दिया< पृथक निर्वाचन अधिकार तुम्हारा । तब गाँधी जी ने छीनने का लिया, अनशन हथियार का सहारा ॥ गांधी के न प्राण बचाते, गर बाबा बनकर दानी । तो आज तुम्हारी मूलनिवासियोँ, होती कुछ और कहानी ॥ सच पूछो खटक रहा है, वह पूना पैक्ट हत्यारा । जिसने शोषित कौमो को, जीवित छोड़ा ना मारा ॥ तुम अब तक पनप न पाये, उस पूना पैक्ट के मारे । निर्दय पूना पैक्ट ने , सचमूच ... Read More »
  • क्योंकी हम भीम के बन्दे है

  • सोनिया गाँधी मंत्र जितना लूट सको लूट लो, फिर इटली को फुट लो

    बोफोर्स तोप सौदे के दलाल ओट्टवियो क्वात्रोची के खातों पर लगाई गई रोक हटाने, वोट के बदले नोट कांड में लीपापोती करने, राष्ट्रमंडल खेलों के नाम पर किस्म-किस्म के घोटाले होने देने, 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में पहले मनमानी होने देने और फिर ए.राजा को क्लीनचिट देने, दागी अतीत के बारे में बताए जाने के बावजूद पीजे थॉमस को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त बनाने, देवास-एंट्रिक्स के बीच संदिग्ध समझौता हो जाने देने और कोयला ब्लाक आवंटन में घोटाला करने वाली केंद्र सरकार से यह उम्मीद करना खुद को धोखे में रखने या फिर दिन में सपने देखने के अलावा और कुछ नहीं ... Read More »
  • प्रधानमंत्री के चहरे से उतरा नकाव चड़ी कोयले की कालिख

Scroll To Top