New
You are here: Home / कविता / क्योंकी हम भीम के बन्दे है

क्योंकी हम भीम के बन्दे है

नहीं ज़ुकेंगे , नहीं सहेंगे,
आगेही बढ़ते जायेंगे
क्योंकी हम भीम के बन्दे है
.
नहीं सहेंगे जुल्मो को हम,
अब नहीं सहेंगे अत्याचार
क्योंकी हम भीम के बन्दे है
.
करेंगे कुछ एसा काम, के बाबा
का हो रोसन नाम क्योंकी हम
भीम के बन्दे है .
देश तो आज़ाद हुआ पर हमें
आज़ादी नहीं मिली, आज़ादी के
लिए हम आपनी जान गवाएंगे
क्योंकी हम भीम के बन्दे है.
अन्ध्रश्रद्धा और
ब्राम्ह्न्वादी
वर्ण-व्यवस्था को हटायेंगे
,क्योंकी हम भीम के बन्दे है
.
करेंगे हम आपने प्राण
न्योछावर “भीम” के लिए,
जिन्होंने हमें जीने की राह
दिखाई
क्योंकी हम भीम के बन्दे
है… क्योंकी हम भीम के
बच्चे है…

जय भीम …
Atul Kumar Bauddh.Kasganj

About admin

Follow Us on

4 comments

  1. SAMAJWADI PARTY KE LEADER AND WORKER AB LATHI SE NAHI GUN SE KAM LE RAHE HAI. JAI BHIM ..

  2. parm pujniya bahan mayawati jee desh kee p.m bane ,tabhee desh sammanit hoga .jay bheem

  3. “dil se khate hai kasam hai baba
    tumhari na kam hogi kabhi aabha

    na tumhe jane koi yeiasa nahi
    har ek ke dilo dimagme bas tuhi

    teri krupa se hai hum jinda yaha
    na jane varna hote hum kaha

    tu ujiyala hum bacche hai tere
    dikhata rahe abab naye aayam tere

    teri bhakti teri shakti de hume
    kare tuje yaad de ek naam hame”

    _ Kavi Savariya
    sangsavariya@gmail.com

  4. very good atul well say

    jai bheem

Leave a Reply

Scroll To Top