New
You are here: Home / Author Archives: admin

Author Archives: admin

Feed Subscription
Follow Us on

दलित महिला की सफलता की कहानी |

दलित महिला की सफलता की कहानी | एक अबला और असहाय दलित युवती के मजबूत और करोड़पति उद्यमी बनने की असली कहानी। कभी पति की शारीरिक प्रताड़ना से आजिज आकर इस युवती ने जिंदगी खत्म करने के लिए जहर पी डाला था। लेकिन किस्मत के साथ साथ हौंसले और मेहनत ने उसे नई जिंदगी के साथ साथ बेशुमार दौलत भी ... Read More »

दलितों पर अत्याचार और हरियाणा सरकार की गुंडागर्दी

अच्छे दिन आने की उम्मीदों के बीच दिल्ली के जंतर-मंतर पर महीनों से अपनी इज्जत-आबरू, न्याय और अस्तित्व के लिए धरने पर बैठे कुछ लोग अपने सामने अंधेरे के सिवाय कुछ और नहीं देख पा रहे हैं। 23 मार्च 2014 को जब देश शहीद भगत सिंह की कुर्बानी को याद कर रहा था, हरियाणा के हिसार जिले के भगाणा गांव ... Read More »

बदला लो और बदल दो

दो बहनो की गेंग रेप के बाद हत्या का मामला अभी चर्चा मे है की मुलायम के आजमगढ मे एक और 17 वर्षीय लड़की का गेंग रेप किया गया बह भी एक जाती विशेष के द्वारा| उधर हरियाणा के चार लड़कियॉ के साथ गेंग रेप की शिकार लड़कयो के परिवार बाले 2 महीने से दिल्ली मे जन्‍तर मन्‍तर पर इंसाफ ... Read More »

तेरा आरक्षण, आरक्षण है और मेरा आरक्षण, आरक्षण नही

आज कल कई लोग आरक्षण विरोध का खोखला ढिंडोरा पीट रहे है| जब मैने इनमे से कुझ लोगो ने जानना चाहा की क्या बह गाँधी विरोधी है तो आसमान ताकने लगे | क्यो की आरक्षण तो गाँधी की एक चाल थी जो बाबा साहब ने भारी दबाब मे आकर बनाई थी | जब बाबा साहब ने दलितों के लिया अलग ... Read More »

बाबा साहेब डॉ० भीमराव अम्बेडकर की 123 वीं वर्षगाँठ पर

दलित वर्ग की राजनैतिक चेतना और परिपक्वता से मुख्यधारा के समाज को सीखने की जरुरत है ! 14 अप्रैल का दिन इस तथ्य की गहराई को समझने के लिये सबसे प्रासंगिक दिन है। यह शीर्षक थोड़ा सा अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकता है लेकिन यदि पूर्वाग्रहों से मुक्त होकर इस पक्ष पर थोड़ा सा गंभीर चिन्तन करें तो निश्चितरूप से वास्तविक जनतंत्र ... Read More »

नरसंहार के 17 साल बाद कितने बदले हैं दलितों के हालात

सुवा मेहता की अब काफी उम्र हो चली है लेकिन लगभग 17 साल पहले वो अपने गांव में हुए उस नरसंहार को बिल्कुल नहीं भूले हैं। जिसमें 58 दलितों का रात के अंधेरे में कत्ल कर दिया गया था। वो बिहार के अरवल जिले के लक्ष्मणपुर बाथे गांव में रहते हैं। वो कहते हैं, “मार काट के बाद पूरे गांव ... Read More »

बाबा साहेब की कर्मभूमि में दलित राजनीति खंड-खंड

नागपुर का दीक्षा भूमि स्मारक दलितों के लिए किसी तीर्थस्थल से कम नही है। यहीं डॉ अंबेडकर ने वर्ण व्यवस्था पर आधारित हिंदू धर्म को छोड़ कर बौद्ध धर्म का रास्ता अपनाया था। यहीं मेरी मुलाक़ात एक बुज़ुर्ग मनोहर बिट्वा पाटिल से हुई जो यह बताते हुए भावुक हो जाते हैं कि कैसे इस जगह पर लोगों के हुजूम के ... Read More »

कॉंग्रेसी सोच और दलित

मा.कांशीरामजी जैसे अपने उद्देश को पूरा करने के लिए अगर कोई बहुत ज्यादा समर्पित हो तो क्या हो सकता है यह कल राहुल गांधी के बहनजी पर दिए गए बयान से साबित हो गया। मा.कांशीरामजी के समर्पित आचरण से किए गए कार्य के कारण उत्तर प्रदेश से काँग्रेस का सुपड़ा साफ हो गया और तभी से काँग्रेस कभी भी केंद्र ... Read More »

दंगायुक्त डेढ़ साल बनाम दंगामुक्त पांच साल

अखिलेशराज के डेढ़ साल और बहन मायावती जी के पांच साल के क्या कुछ हुआ हम आपको बताते है पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद एक ओर जहां अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने के लिए उनकी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता तैयार नहीं थे, उत्तर प्रदेश में यह कहा जाने लगा है कि राज्य में साढ़े पांच मुख्यमंत्री हैं, और आधे मुख्यमंत्री ... Read More »

भगवान बुद्धाचे अपमान करणारी ‘बुद्धा’ सीरिअल बंद झालीच पाहिजे

‘बुद्धा’ सीरिअल चा निर्माता, बी के मोदी हा एक इंडस्ट्रीयालिस्ट आहे आणि स्पाइस ग्रुप चा मालिक आहे. स्पाइस ग्रुप ही कंपनी ‘स्पाइस’ नावाचे मोबाइल बनवित असते. बी के मोदी याने कुठून तरी डॉक्टरेट ची पदवी मिळवून नावा पुढे डॉ लावून घेतले. मोदी हा विश्व हिंदू परिषद चा प्रमुख नेता आहे तसेच महाबोधी सोसायटी चा अध्यक्ष सुद्धा होता. हा महाबोधी सोसायटी चा माजी अध्यक्ष भारतातील आंबेडकरवादी बौद्धांना व नाव-बौद्धांना ‘बौद्ध’ मानीत नाही. ... Read More »

Scroll To Top