New
You are here: Home / Author Archives: admin (page 2)

Author Archives: admin

Feed Subscription
Follow Us on

पूना पैक्ट की कहानी

गोलमेज सम्मेलन मे, बाबा की मेहनत रंग लाई । अपने बुध्दिबल से बाबा ने . कम्युनल एवार्ड की उपलब्धी पाई ॥ अँग्रेजो ने जब तुमको दे दिया< पृथक निर्वाचन अधिकार तुम्हारा । तब गाँधी जी ने छीनने का लिया, अनशन हथियार का सहारा ॥ गांधी के न प्राण बचाते, गर बाबा बनकर दानी । तो आज तुम्हारी मूलनिवासियोँ, होती कुछ ... Read More »

मीडिया में दलित आ भी जायें तो करेंगे क्या

मीडिया में दलितों की भागीदारी और उनके सरोकरों की क्या स्थिति है सब जानते हैं। किस तरह उन्हें आने नहीं दिया जाता या उनके लिए दरवाजे बंद कर दिये जाते हैं। फॉरवर्ड प्रेस के मई13 के अंक में ‘जातीय पैकेजिंग के टी.वी. चैनल’ में वरिष्ठ पत्रकार अनिल चमड़िया ने दलितों के मीडिया में आने और उनके प्रवेश पर अघोषित रोक ... Read More »

भारत की कोकिला और डॉ. अम्बेडकर

आज हम हिन्दुस्तान के दो महान् व्यक्तित्व पर चर्चा करने जा रहे है जिसमे भारत की कोकिला ( द नाइटएंगल ऑफ इण्डिया ) कही जाने वाली कांग्रेस की प्रथम महिला अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की प्रथम महिला राज्यपाल, स्वंतन्त्रता सेनानी, महान कवयित्री सरोजिनी नायडू जिनका जन्म 13 फरवरी 1879 को हुआ, इसी महान कवयित्री के जन्मदिन को महिला दिवस के रूप ... Read More »

दलितों की पहचान, राष्ट्रीय दलित स्मारक 2011, नोएडा

आज एक बार फिर सिद्व हो गया है कि जब-जब किसी दलित को मौका मिला, इतिहास फिर दोहराया गया, पहली बार जब किसी दलित को मौका मिला तो देश के सबसे पवित्र ग्रन्थ संविधान लिख डाला, तब भी हजारों लोगों ने उन पर उगंली उठाई और आंखे तानी, लेकिन उन्होनें वो काम इतने बेहतरीन तरीके से कर दिखाया की सबकी ... Read More »

सविंधान सभा में आरक्षण पर, डॉ. अम्बेडकर का जबाब

आज हम बात कर रहे है, भारतीय संविधान कि धारा 10 है, जिसमें कि अनुसूचित जाति, जनजाति को नौकरियो में आरक्षण का प्रावधान है । आरक्षण की इस लडाई में जब भारत के संविधान का निर्माण हो रहा था, तब सभा में एक वोट की कमी से आरक्षण प्रस्ताव पारित नही हो सका, तब डां. अम्बेडकर के सामने एक गंभीर ... Read More »

बाबा साहेब की ‘‘अहसान फरामोश पीढ़ी’’

अब आप कहेगें की, यह क्या कह रहे हो । मैं सच कह रहा हूँ, यह उन लोगों के लिए हैं । जो बाबा साहेब डॉ. बी.आर. अम्बेडकर के संघर्ष से मिले, अधिकार और आरक्षण के लाभ को मजे से खा रहे हैं । लेकिन बदले मे, बाबा साहेब के लिए कुछ नही कर रहे हैं । बाबा साहेब ने ... Read More »

दलित मूवमेन्ट को कमजोर करते सामाजिक संगठन

आज हम दलित मूवमेन्ट पर विचार कर रहे है जिसके लिए बाबा साहेब ने अपना पूरा जीवन न्योछावर कर लिया, दलित मूवमेन्ट जिसका प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष प्रभाव हमारे जीवन में दिन-प्रतिदिन पड़ता है । यदि इसे अच्छी तरह समझना है तो हमें हमारी जाति आधारित व्यवस्था तथा आवरण से बाहर निकलना होगा, तभी हम इसे अच्छी तरह समझ पायेंगे । Read More »

दुनिया में सर्वश्रैष्ठ : बाबा साहेब डॉ. बी. आर. अम्बेडकर

आज हम डॉ. अम्बेडकर के एक ऐसे चमत्कार और उस दौर की बात कर रहे है जो समय उन्होने न्यूयार्क, अमेरिका में 1913 से 1916 के बीच कोलम्बिया युनिवर्सिटी में बिताया । ऐसा डॉ. अम्बेडकर और बड़ोदा महाराज के बीच हुऐ करार से सम्भव हो पाया जिसके अन्तर्गत 10 वर्षों तक रियासत की सेवा करने का करार । जिसके तहत ... Read More »

सोनिया गाँधी मंत्र जितना लूट सको लूट लो, फिर इटली को फुट लो

बोफोर्स तोप सौदे के दलाल ओट्टवियो क्वात्रोची के खातों पर लगाई गई रोक हटाने, वोट के बदले नोट कांड में लीपापोती करने, राष्ट्रमंडल खेलों के नाम पर किस्म-किस्म के घोटाले होने देने, 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में पहले मनमानी होने देने और फिर ए.राजा को क्लीनचिट देने, दागी अतीत के बारे में बताए जाने के बावजूद पीजे थॉमस को केंद्रीय सतर्कता ... Read More »

यह नन्दी नही अक्ल की गंदगी है

जयपुर पुस्तक महोत्सव में लेखक और समाजशास्त्री आशीष नंदी ने फरमाया है कि सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार दलित वर्गों यानी अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ी जातियों के लोग करते हैं। आशीष नंदी अगर सिर्फ लेखक होते तो उन्हें नामवर सिंह की श्रेणी में रखकर उनपर तरस खाया जा सकता था, क्योंकि वे भी दलित-विरोधी मानसिकता के हैं। फर्क सिर्फ यही है ... Read More »

Scroll To Top